Actress Shanisha Morya’s Gangs of Bihar will be based on real story

एक्ट्रेस शनिशा मौर्य की गैंग्स ऑफ बिहार रियल स्टोरी बे बेस्ड होगी।

कहा जाता है अगर नियत साफ़ हो और कुछ कर जाने का जज्बा हो तो मंज़िल एक दिन मिल ही जाती है। मध्यप्रदेश के होशंगाबाद के छोटे से शहर की रहने वाली शनिशा ने बड़ी मुश्किलों भरा शफ़र तय करके बॉलीवुड में अपनी एक पहचान बनाई है। कुमार नीरज के निर्देशन में बनने जा रही फ़िल्म गैंग्स ऑफ बिहार से अपना फिल्मी कैरियर शुरू करने वाली शनिशा मौर्य आज एक व्यस्त कलाकार हैं।जो ना केवल कुछ बॉलीवुड फिल्में बतौर लीड कर रही हैं बल्कि डिजिटल प्लेटफॉर्म OTT पर भी काम कर रही हैं।

उनकी आने वाली फिल्मों में गैंग्स ऑफ बिहार औऱ “नफीसा” सामिल है।

शनिशा की संघर्ष की कहानी भी किसी फिल्मी कहानी जैसी प्रतीत होती है। होशंगाबाद सहर के एक बेहद मध्यम वर्गीय परिवार जन्म लेने वाली और अपने भाई बहनों में सबसे छोटी शनिशा है।शनिशा पापा भवानी मौर्य छोटे मोटे बिज़नेस करते है।शनिशा की मम्मी भूरिया मौर्य महिला बाल बिकाश में जॉब करती है।बचपन से ही फिल्मों का शौक रखने वाले शनिशा फिल्म देख के उस फिल्म के सीन वो अपने छोटे छोटे दोस्तों के सामने एक्ट कर के दिखाती थी।अपने बेटी को एक्टिंग करता देख  माता पिता बहुत खुश होते थे।भवानी मौर्य और भूरिया मौर्य को शनिशा की एक्टिंग करता देख उसी दौरान उन्हें एहसास हुआ कि शानिशा को एक्टिंग फील्ड में ही जाना चाहिए।भवानी मौर्य के इस डिसीजन से उनके रिलेशन वाले नाखुश थे उनके फैमली वाले को लगा वो अपने बेटी को गलत दिशा में भेज रहे है।

 

शानिशा जैसे जैसे बड़ी हुई उसके पापा ने उसके अच्छी पढ़ाई के लिए भोपाल के एक कॉलेज में एडमिशन दिला दिया।फिर एक्टिंग क्लास डांसिंग क्लास जो शनिशा ने बोला भवानी मौर्य ने उसको पुरा किया।अपनी पढ़ाई पूरी कर के शनिशा 2019 में मुम्बई आगयी और अपना स्ट्रगल सुरु किया 2020 में 6 महीना क्रोना के बजह से अपने घर मे बंद रही और खुद पे काम किया।शनिशा एक शॉर्ट फिल्म में भी काम किया है जो एक थ्रिलर है। हमेशा कुछ नया और डिफरेंट करने की कोशिश करने की चाहत शनिशा रखती है।

मुकेश तिवारी राजेश शर्मा राजवीर सिंह जैसे एक्टर्स के साथ काम करके शनिशा को बहुत कुछ सीखने को मिला है। फिल्मों को वह सिर्फ काम नहीं बल्कि अपना पैशन मानती हैं।  संजय लीला भंसाली, अनुराग कश्यप, मेघना गुलज़ार जैसे निर्देशक उन्हें बेहद प्रभावित करते हैं।

“ज़िन्दगी में स्ट्रगल कभी ख़तम नहीं होता.” वह ऐसा मानती हैं।

शनिशा मौर्य कड़ी मेहनत को ही कामयाबी का मंत्र मानती हैं,वह केहती हैं मैं सभी “मां बाप से अपील करूंगी कि आपके बच्चे जो बनना चाहते हैं उसका सपोर्ट करें, आज में मुम्बई में हूँ तो अपने माँ और पापा के सपोर्ट के बजह से।बच्चो से कहना चाहूंगा कि वे मां बाप को कभी धोखा ना दें, उनकी उम्मीदों को ना तोड़ें।”

शनिशा की आगे कई प्रोजेक्ट्स बात चल रही है जो जल्दी ही साईन करेगी।

Print Friendly, PDF & Email
Responses are currently closed, but you can trackback from your own site.

Comments are closed.

Powered by WordPress | Designed by: Best WordPress Themes | Thanks to WordPress Themes Free, WordPress 4 Themes and